Western Times News

Latest News from Gujarat

दक्षिण असम, मेघालय, मिजोरम और त्रिपुरा में 29 मार्च से 1 अप्रैल, 2021 के दौरान भारी बारिश की संभावना

पूर्वोत्तर भारत में 29 मार्च से 3 अप्रैल, 2021 के बीचघनघोर बारिश का दौर

  • बंगाल की खाड़ी से चलीनिचलीसतह की तेज दक्षिण- पश्चिमी हवाओं के प्रभाव के कारण 29 मार्च से लेकर 2 अप्रैल, 2021 के बीच, खासकर 30 और 31 मार्च, 2021 के दौरान अधिकतम सक्रियता के साथ पूर्वोत्तर भारत में अलग-अलग स्थानों पर गरज / बिजली चमकने के साथ काफी व्यापक रूप से लेकर व्यापक रूप से वर्षा होने की संभावना है।
  • दक्षिण असममेघालयत्रिपुराऔर मिजोरम में 29 मार्च एवं 1 अप्रैल को कहीं  कहीं भारी वर्षा और 30 एवं 31 मार्च को कहीं  कहीं भारी से लेकर बहुत भारी वर्षा होने कीकाफी संभावना है। अरुणाचल प्रदेश में 1 अप्रैल कोकहीं – कहीं भारी वर्षाहोने की संभावना है।
  • इसकी वजह से 30 मार्च से लेकर 01 अप्रैल, 2021 के दौरान दक्षिण असममेघालयत्रिपुरा और मिजोरमके कुछ स्थानों पर निचले इलाकों में भूस्खलन और बाढ़ का खतराहो सकता है।
  • विस्तृत पूर्वानुमान और चेतावनियां अगले पृष्ठ में दी गई हैं:
सब – डिवीज़न 29-Mar-21 30-Mar-21 31-Mar-21 01-April-21 02- April-21
असम एवं मेघालय कई स्थानों पर छिटपुट आंधी, गरज और तेज हवाओं (30-40 किमी प्रति घंटे) के साथ वर्षा।दक्षिणअसम, एवं मेघालय में कहीं  कहीं भारी वर्षा अधिकतर स्थानों पर  आंधी, गरज और तेज हवाओं (40-50 किमी प्रति घंटे) के साथ वर्षा। दक्षिण असमएवं मेघालय में कहीं – कहीं भारी से बहुत भारी वर्षा अधिकतर स्थानों पर  आंधी, गरज और तेज हवाओं (40-50 किमी प्रति घंटे) के साथ वर्षा। दक्षिण असमएवं मेघालय में कहीं – कहीं भारी से बहुत भारी वर्षा कई स्थानों पर छिटपुट आंधी, गरज और तेज हवाओं (30-40 किमी प्रति घंटे) के साथ वर्षा। दक्षिण असमएवं मेघालय में कहीं – कहीं भारी वर्षा कई स्थानों पर वर्षा
नागालैंडमणिपुरमिजोरम एवं  त्रिपुरा कई स्थानों पर छिटपुट आंधी, गरज और तेज हवाओं (30-40 किमी प्रति घंटे) के साथ वर्षा। मिजोरम एवं  त्रिपुरामें कहीं  कहीं भारी वर्षा अधिकतर स्थानों पर  आंधी, गरज और तेज हवाओं (40-50 किमी प्रति घंटे) के साथ वर्षा।मिजोरम एवं  त्रिपुरामेंकहीं – कहीं भारी से बहुत भारी वर्षा अधिकतर स्थानों पर  आंधी, गरज और तेज हवाओं (40-50 किमी प्रति घंटे) के साथ वर्षा। मिजोरम एवं  त्रिपुरा में कहीं – कहीं भारी से बहुत भारी वर्षा कई स्थानों पर छिटपुट आंधी, गरज और तेज हवाओं (30-40 किमी प्रति घंटे) के साथ वर्षा।मणिपुरमिजोरम एवं  त्रिपुरामें कहीं  कहीं भारी वर्षा कई स्थानों पर वर्षा

अरुणाचल प्रदेश

 

कुछ स्थानों पर छिटपुट आंधी औरगरज के साथ वर्षा कई स्थानों पर छिटपुट आंधी और गरज के साथ वर्षा कई स्थानों पर छिटपुट आंधी और गरज के साथ वर्षा कई स्थानों पर छिटपुट रूप से भारी वर्षा कई स्थानों पर वर्षा

असम एवं मेघालय और नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम एवं त्रिपुरा में 29 मार्च से लेकर 1 अप्रैल, 2021 के दौरान आंधी, बिजली और तेज हवाओं (40-50 किमी प्रति घंटे तक की गति) के कारण होने वाले अपेक्षित प्रभाव और सुझाये गये कदम।

अपेक्षित प्रभाव:

  • तेज हवाओं से वृक्षारोपण, बागवानी और खड़ी फसलों को नुकसान हो सकता है।
  • तेज हवाएं खुली जगहों पर लोगों और मवेशियों को घायल कर सकती हैं।

सुझाये गये कदम:

  • घरों के अंदर रहें, खिड़कियों एवं दरवाजों को बंद रखें और यदि संभव हो, तो यात्रा से बचें।
  • सुरक्षित स्थानों पर आश्रय लें; पेड़ों के नीचे शरण न लें।
  • कंक्रीट के फर्श पर न लेटें और कंक्रीट की दीवारों पर न लटकें।
  • इलेक्ट्रिकल / इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के प्लग निकाल दें।
  • जल निकायों से तुरंत बाहर निकलें।
  • बिजली संचालित करने वाली सभी वस्तुओं से दूर रहें।
  • बारिश के दौरान खेती के कार्यों को स्थगित किया जा सकता है।

दक्षिण असम, मेघालय, मिजोरम और त्रिपुरा में 29 मार्च से लेकर 1 अप्रैल, 2021 के दौरान भारी वर्षा के कारण होने वाले अपेक्षित प्रभाव और सुझाये गये कदम।

अपेक्षित प्रभाव

  • सड़कों पर स्थानीय स्तर पर बाढ़, निचले इलाकों में जल -जमाव और उपरोक्त इलाकों के मुख्य रूप से शहरी क्षेत्रों में अंडरपासों का बंद होना।
  • भारी वर्षा / बर्फबारी के कारणकभी-कभी दृश्यता में कमी।
  • बर्फबारी।
  • सड़कों पर जल -जमाव से होने वाले यातायात में व्यवधानके कारण यात्रा के समय में वृद्धि।
  • कच्ची सड़कों को मामूली नुकसान।
  • कमजोर संरचना को नुकसान की संभावनाएं।
  • स्थानीय स्तर पर भूस्खलन / कीचड़ धंसना।

सुझाये गये कदम:

  • अपनी यात्रा शुरू करने से पहले अपने मार्ग पर यातायात संबंधी अवरोध के बारे में पता कर लें।
  • इस संबंध में जारी किए गए यातायात संबंधी सलाह का पालन करें।
  • अक्सर जल – जमाव की समस्या से ग्रस्त रहने वालेइलाकों में जाने से बचें।
  • कमजोर संरचना के नीचे रहने से बचें।
Copyright © All rights reserved. | Developed by Aneri Developers