Western Times News

Latest News from Gujarat

IIFL होम फाइनेंस ने CII का ग्रीन चैंपियन अवार्ड हासिल किया

रिटेल होम लोन पर फोकस करने वाली प्रमुख कंपनियों में से एक आईआईएफएल होम फाइनेंस को इंडियन ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल (आईजीबीसी) की ओर से ‘ग्रीन चैंपियन अवार्ड‘ मिला है। IIFL Home Finance Wins Green Champion Award from CII आईजीबीसी भारत के सबसे बड़े उद्योग निकायों में से एक भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) का एक हिस्सा है।

आईआईएफएल होम फाइनेंस ने ‘भारत में आवासीय क्षेत्रों के बीच ग्रीन बिल्डिंग्स को बड़े पैमाने पर अपनाने की सुविधा को विकसित करने की दिशा में अग्रणी‘ होने पर यह पुरस्कार प्राप्त किया। आईजीबीसी ग्रीन बिल्डिंग सर्टिफिकेशन और संबंधित सेवाओं जैसे प्रशिक्षण कार्यक्रम, मान्यता प्राप्त पेशेवर परीक्षा, सदस्यता आदि के लिए देश का प्रमुख निकाय है।

आईजीबीसी ग्रीन चैंपियन अवार्ड ग्रीन बिल्डिंग्स के क्षेत्र में संगठनों की प्रमुख उपलब्धियों की सराहना और पहचान करने का एक प्रयास है। यह भारत में ग्रीन बिल्डिंग अभियान को लेकर आईजीबीसी द्वारा दिए गए सर्वोच्च सम्मान में से एक है।

आईआईएफएल होम फाइनेंस लिमिटेड भारत में किफायती ग्रीन हाउसिंग कॉन्सेप्ट में सबसे आगे है और इसने अब तक लगभग 30 आईजीबीसी ग्रीन बिल्डिंग प्रोजेक्ट्स को विकसित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इस योगदान के कारण भारत एक वैश्विक हरित चैंपियन के रूप में उभरा है।

आईआईएफएल होम फाइनेंस के सीईओ श्री मोनू रात्रा ने कहा, ‘‘सस्टेनबिलिटी पर ध्यान केंद्रित करते हुए सभी के लिए आवास के सपने को पूरा करने की दिशा में अफाॅर्डेबल ग्रीन हाउसिंग आवश्यक है। हम इस अवार्ड को हासिल करने पर अपने ग्रीन वैल्यू पार्टनर्स, ग्रीन आर्किटेक्ट्स की इनहाउस टीम और अन्य प्रतिभागियों का धन्यवाद करते हैं।‘‘

आईजीबीसी ने अपने एक नोट में कहा, ‘‘ग्रीन चैंपियंस ने हमारे देश के लाखों लोगों को हरित मार्ग को अपनाने के लिए प्रेरित किया है। उनके प्रयासों और प्रतिबद्धता के परिणामस्वरूप, आज भारत 7.61 बिलियन वर्ग फुट के ग्रीन फुटप्रिंट के साथ दुनिया के शीर्ष 5 देशों में से एक है।‘‘

आईआईएफएल होम फाइनेंस लिमिटेड प्रधानमंत्री आवास योजना की क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी योजना (पीएमएवाय-सीएलएसएस) के तहत सब्सिडी का एक प्रमुख वितरक भी है। इसने 42,500 लाभार्थियों को लगभग 7000 करोड़ रुपये का लोन मंजूर किया है और 1000 करोड़ रुपये से अधिक की सब्सिडी राशि वितरित की है।

Copyright © All rights reserved. | Developed by Aneri Developers