Western Times News

Latest News from Gujarat

किसान नहीं जानते वाे क्या कर रहे हैं, कृषि कानून को हेमा मालिनी ने बताया सही

जानी मानी अभिनेत्री और बीजेपी सांसद हेमामालिनी ने केंद्र सरकार द्वारा लागू कृषि कानूनों और किसान आंदोलन को लेकर अपनी राय प्रकट की। उन्होंने विपक्ष पर किसानों को भ्रमित करने का आरोप लगाते हुए केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए कृषि कानूनों को किसानों व खेती के लिए बेहतर बताया।

इससे पहले केन्द्र ने उच्चतम न्यायालय से कहा कि नए कृषि कानूनों में किसानों के जमीन की सुरक्षा अंतर्निहित है और उन्हें भ्रमित किया गया है कि उनकी जमीनें ले ली जाएंगी। केन्द्र सरकार ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाएगा कि किसी भी किसान को अपनी जमीन खोनी न पड़े। पीठ ने अगले आदेश तक तीनों विवादित कृषि कानूनों के अमल पर रोक लगा दी है।

हेमामालिनी सोमवार को मथुरा के वृन्दावन स्थित अपने आवास पहुंची। इस दौरान उन्होंने कृषि कानूनों की पैरवी करते हुए कहा कि इसमें कोई कमी नहीं है लेकिन विपक्ष के बहकावे में आकर आंदोलन किया जा रहा है। आंदोलनकारी किसान यह भी नहीं जानते कि वे क्या चाहते हैं और खेत कानूनों के साथ क्या समस्या है, जो दर्शाता है कि वे ऐसा कर रहे हैं, क्योंकि किसी ने उन्हें ऐसा करने के लिए कहा।

कोरोना वैक्सीन पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बयान पर हेमामालिनी ने कहा कि विपक्ष का काम हमारी सरकार के हर अच्छे काम पर उल्टा बोलना है। केंद्र सरकार विपक्ष की परवाह किए बिना हर मुद्दे पर अडिग खड़ी है। एक सवाल के जवाब में हेमामालिनी ने कहा कि टीका लगवाने के लिए मैं अपनी बारी के इंतजार में हूं, देशी टीका लगवाने के लिए उत्सुक हूं।

Copyright © All rights reserved. | Developed by Aneri Developers